ABHIJIT SINGH

ABHIJIT SINGH

बहुत चीज़ें मुझे प्यारी थीं दुनिया की विरासत की
तेरे होठों पे अपना नाम मुझको सबसे प्यारा था

  • Sher
  • Ghazal

More Writers like ABHIJIT SINGH

How's your Mood?

Latest Blog

Upcoming Festivals