yahan se jaane ki jaldi kisko hai tum batao | यहाँ से जाने की जल्दी किसको है तुम बताओ - Zia Mazkoor

yahan se jaane ki jaldi kisko hai tum batao
ye sootkeson mein kapde kisne rakhe hue hain

kara to loonga ilaqa khaali main lad-jhagad kar
magar jo usne dilon pe qabze kiye hue hain

यहाँ से जाने की जल्दी किसको है तुम बताओ
ये सूटकेसों में कपड़े किसने रखे हुए हैं

करा तो लूँगा इलाक़ा ख़ाली मैं लड़-झगड़ कर
मगर जो उसने दिलों पे क़ब्ज़े किए हुए हैं

- Zia Mazkoor
21 Likes

More by Zia Mazkoor

As you were reading Shayari by Zia Mazkoor

Similar Writers

our suggestion based on Zia Mazkoor

Similar Moods

As you were reading undefined Shayari