thoda sa maahol banaana hota hai | थोड़ा सा माहौल बनाना होता है - Shakeel Jamali

thoda sa maahol banaana hota hai
warna kiske saath zamaana hota hai

aansu pehli shart hai zinda rahne ki
gham to saanson ka jurmaana hota hai

saccha sher sunaane waale khatm hue
ab to khaali khel dikhaana hota hai

raat hamaare ghar jaldi aa jaaya kar
hamein savere kaam pe jaana hota hai

laal-qile ki deewaron par likhwaa do
dil sab se mahfooz thikaana hota hai

duniya mein bhar-maar hai naqli logon ki
sau mein koi ek deewana hota hai

थोड़ा सा माहौल बनाना होता है
वर्ना किसके साथ ज़माना होता है

आँसू पहली शर्त है ज़िंदा रहने की
ग़म तो साँसों का जुर्माना होता है

सच्चा शेर सुनाने वाले ख़त्म हुए
अब तो ख़ाली खेल दिखाना होता है

रात हमारे घर जल्दी आ जाया कर
हमें सवेरे काम पे जाना होता है

लाल-क़िले की दीवारों पर लिखवा दो
दिल सब से महफ़ूज़ ठिकाना होता है

दुनिया में भर-मार है नक़ली लोगों की
सौ में कोई एक दिवाना होता है

- Shakeel Jamali
11 Likes

Dil Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Shakeel Jamali

As you were reading Shayari by Shakeel Jamali

Similar Writers

our suggestion based on Shakeel Jamali

Similar Moods

As you were reading Dil Shayari Shayari