Azm Shakri

Azm Shakri

हमको दिल से भी निकाला गया, फिर शहर से भी
हमको पत्थर से भी मारा गया, फिर ज़हर से भी

  • Sher
  • Ghazal

More Writers like Azm Shakri

How's your Mood?

Latest Blog

Upcoming Festivals