Shakeel Jamali

Shakeel Jamali

उम्र का एक और साल गया
वक़्त फिर हम पे ख़ाक डाल गया

  • Sher
  • Ghazal

LOAD MORE

More Writers like Shakeel Jamali

How's your Mood?

Latest Blog

Upcoming Festivals