Aasif gouri

Aasif gouri

बद्दुआ क्यूँ करें किसी के लिए
लोग मरते हैं ज़िंदगी के लिए

More Writers like Aasif gouri

How's your Mood?

Latest Blog

Upcoming Festivals