vo jang usi waqt pe ham haar gaye hain | वो जंग उसी वक़्त पे हम हार गए हैं - Kushal Dauneria

vo jang usi waqt pe ham haar gaye hain
jis waqt pe ladte hue vo baal khule hain

har koi double rol ada kar raha hai dost
ye kaise meri film ke kirdaar chune hain

pandrah minute ko bhi bhulaaya nahin jaata
jis shakhs ko pacchees baras beet chuke hain

koi mere ash'aar pe yun ro ke gaya hai
sehra pe likhi nazm mein taalaab mile hain

itni to meri jaan teri qeemat bhi nahin thi
ye jitne bade tujhpe mere daanv lage hain

वो जंग उसी वक़्त पे हम हार गए हैं
जिस वक़्त पे लड़ते हुए वो बाल खुले हैं

हर कोई डबल रोल अदा कर रहा है दोस्त
ये कैसे मिरी फ़िल्म के किरदार चुने हैं

पंद्रह मिनट को भी भुलाया नहीं जाता
जिस शख़्स को पच्चीस बरस बीत चुके हैं

कोई मिरे अश'आर पे यूँ रो के गया है
सहरा पे लिखी नज़्म में तालाब मिले हैं

इतनी तो मेरी जाँ तेरी क़ीमत भी नहीं थी
ये जितने बड़े तुझपे मेरे दाँव लगे हैं

- Kushal Dauneria
18 Likes

Inquilab Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Kushal Dauneria

As you were reading Shayari by Kushal Dauneria

Similar Writers

our suggestion based on Kushal Dauneria

Similar Moods

As you were reading Inquilab Shayari Shayari