kal shab libaas usne jo pahna gulaab ka | कल शब लिबास उसने जो पहना गुलाब का - Kushal Dauneria

kal shab libaas usne jo pahna gulaab ka
khushboo gulaab ki kahi charcha gulaab ka

dekhi haseen logon ki aulaad bhi haseen
paudhe se ugta dekha hai paudha gulaab ka

main tha gulaab todne waalon ke shehar se
aur usko chahiye tha bagicha gulaab ka

sunte ho aaj toot gaya laadle ka dil
ab uske aage zikr na karna gulaab ka

कल शब लिबास उसने जो पहना गुलाब का
ख़ुशबू गुलाब की कहीं चर्चा गुलाब का

देखी हसीन लोगों की औलाद भी हसीन
पौधे से उगता देखा है पौधा गुलाब का

मैं था गुलाब तोड़ने वालों के शहर से
और उसको चाहिए था बगीचा गुलाब का

सुनते हो आज टूट गया लाडले का दिल
अब उसके आगे ज़िक्र न करना गुलाब का

- Kushal Dauneria
23 Likes

Dil Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Kushal Dauneria

As you were reading Shayari by Kushal Dauneria

Similar Writers

our suggestion based on Kushal Dauneria

Similar Moods

As you were reading Dil Shayari Shayari