poora dukh aur aadha chaand | पूरा दुख और आधा चाँद - Parveen Shakir

poora dukh aur aadha chaand
hijr ki shab aur aisa chaand

din mein vehshat bahl gai
raat hui aur nikla chaand

kis maqtal se guzra hoga
itna sehama sehama chaand

yaadon ki aabaad gali mein
ghoom raha hai tanhaa chaand

meri karvat par jaag utthe
neend ka kitna kaccha chaand

mere munh ko kis hairat se
dekh raha hai bhola chaand

itne ghane baadal ke peeche
kitna tanhaa hoga chaand

aansu roke noor nahaaye
dil dariya tan sehra chaand

itne raushan chehre par bhi
suraj ka hai saaya chaand

jab paani mein chehra dekha
tu ne kis ko socha chaand

bargad ki ik shaakh hata kar
jaane kis ko jhaanka chaand

baadal ke resham jhoole mein
bhor samay tak soya chaand

raat ke shaane par sar rakhe
dekh raha hai sapna chaand

sukhe patton ke jhurmut par
shabnam thi ya nanha chaand

haath hila kar ruksat hoga
us ki soorat hijr ka chaand

sehra sehra bhatk raha hai
apne ishq mein saccha chaand

raat ke shaayad ek baje hain
sota hoga mera chaand

पूरा दुख और आधा चाँद
हिज्र की शब और ऐसा चाँद

दिन में वहशत बहल गई
रात हुई और निकला चाँद

किस मक़्तल से गुज़रा होगा
इतना सहमा सहमा चाँद

यादों की आबाद गली में
घूम रहा है तन्हा चाँद

मेरी करवट पर जाग उठ्ठे
नींद का कितना कच्चा चाँद

मेरे मुँह को किस हैरत से
देख रहा है भोला चाँद

इतने घने बादल के पीछे
कितना तन्हा होगा चाँद

आँसू रोके नूर नहाए
दिल दरिया तन सहरा चाँद

इतने रौशन चेहरे पर भी
सूरज का है साया चाँद

जब पानी में चेहरा देखा
तू ने किस को सोचा चाँद

बरगद की इक शाख़ हटा कर
जाने किस को झाँका चाँद

बादल के रेशम झूले में
भोर समय तक सोया चाँद

रात के शाने पर सर रक्खे
देख रहा है सपना चाँद

सूखे पत्तों के झुरमुट पर
शबनम थी या नन्हा चाँद

हाथ हिला कर रुख़्सत होगा
उस की सूरत हिज्र का चाँद

सहरा सहरा भटक रहा है
अपने इश्क़ में सच्चा चाँद

रात के शायद एक बजे हैं
सोता होगा मेरा चाँद

- Parveen Shakir
1 Like

Dil Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Parveen Shakir

As you were reading Shayari by Parveen Shakir

Similar Writers

our suggestion based on Parveen Shakir

Similar Moods

As you were reading Dil Shayari Shayari