jin logon se meri yaari hoti hai | जिन लोगों से मेरी यारी होती है - Aadil Rahi

jin logon se meri yaari hoti hai
un mein koi baat to pyaari hoti

duniya mein ik shakhs hi pyaara lagta hai
hum aison mein ye beemaari hoti hai

jab bhi apne yaaron se milta hoon main
jaane kyun bas baat tumhaari hoti hai

sab ko dil ka raaz bataana theek nahin
duniyadari duniyadari hoti hai

jhooth bahut aasaan hai lekin ai raahi
sach kehne mein kuch dushwaari hoti hai

जिन लोगों से मेरी यारी होती है
उन में कोई बात तो प्यारी होती

दुनिया में इक शख़्स ही प्यारा लगता है
हम ऐसों में ये बीमारी होती है

जब भी अपने यारों से मिलता हूँ मैं
जाने क्यों बस बात तुम्हारी होती है

सब को दिल का राज़ बताना ठीक नहीं
दुनिया-दारी दुनिया-दारी होती है

झूट बहुत आसान है लेकिन ऐ 'राही'
सच कहने में कुछ दुश्वारी होती है

- Aadil Rahi
6 Likes

Miscellaneous Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Aadil Rahi

As you were reading Shayari by Aadil Rahi

Similar Writers

our suggestion based on Aadil Rahi

Similar Moods

As you were reading Miscellaneous Shayari