Aadil Rasheed

Aadil Rasheed

ज़िंदगी भर के लिए दिल पे निशानी पड़ जाए
बात ऐसी न लिखो, लिख के मिटानी पड़ जाए

More Writers like Aadil Rasheed

How's your Mood?

Latest Blog

Upcoming Festivals