chaand sa chehra noor ki chitwan maasha-allah maasha-allah | चाँद सा चेहरा नूर की चितवन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह - Ameer Minai

chaand sa chehra noor ki chitwan maasha-allah maasha-allah
turfah nikala aap ne joban maasha-allah maasha-allah

gul rukh-e-naazuk zulf hai sumbul aankh hai nargis seb-e-zankhadaan
husn se tum ho ghairat-e-gulshan maasha-allah maasha-allah

saaqi-e-bazm-e-roz-e-azal ne baada-e-husn bhara hai is mein
aankhen hain saaghar sheesha hai gardan maasha-allah maasha-allah

qahar gazab zaahir ki rukaavat aafat-e-jaan dar-parda lagaavat
chaah ki tevar pyaar ki chitwan maasha-allah maasha-allah

ghamza uchkka ishwa hai daaku qahar adaayein seher hain baatein
chor nigaahen naaz hai rehzan maasha-allah maasha-allah

noor ka tan hai noor ke kapde us par kya zewar ki chamak hai
challe kangan ikke joshan maasha-allah maasha-allah

jam'a kiya ziddain ko tum ne sakhti aisi narmi aisi
mom badan hai dil hai aahan maasha-allah maasha-allah

waah ameer aisa ho kehna she'r hain ya ma'shooq ka gehna
saaf hai bandish mazmoon raushan maasha-allah maasha-allah

चाँद सा चेहरा नूर की चितवन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह
तुर्फ़ा निकाला आप ने जोबन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह

गुल रुख़-ए-नाज़ुक ज़ुल्फ़ है सुम्बुल आँख है नर्गिस सेब-ए-ज़नख़दाँ
हुस्न से तुम हो ग़ैरत-ए-गुलशन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह

साक़ी-ए-बज़्म-ए-रोज़-ए-अज़ल ने बादा-ए-हुस्न भरा है इस में
आँखें हैं साग़र शीशा है गर्दन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह

क़हर ग़ज़ब ज़ाहिर की रुकावट आफ़त-ए-जाँ दर-पर्दा लगावट
चाह की तेवर प्यार की चितवन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह

ग़म्ज़ा उचक्का इश्वा है डाकू क़हर अदाएँ सेहर हैं बातें
चोर निगाहें नाज़ है रहज़न माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह

नूर का तन है नूर के कपड़े उस पर क्या ज़ेवर की चमक है
छल्ले कंगन इक्के जोशन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह

जम्अ' किया ज़िद्दैन को तुम ने सख़्ती ऐसी नर्मी ऐसी
मोम बदन है दिल है आहन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह

वाह 'अमीर' ऐसा हो कहना शे'र हैं या मा'शूक़ का गहना
साफ़ है बंदिश मज़मूँ रौशन माशा-अल्लाह माशा-अल्लाह

- Ameer Minai
0 Likes

Aaina Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Ameer Minai

As you were reading Shayari by Ameer Minai

Similar Writers

our suggestion based on Ameer Minai

Similar Moods

As you were reading Aaina Shayari Shayari