pukaarta hoon main al-amaan al-amaan allah | पुकारता हूँ मैं अल-अमान अल-अमान अल्लाह - Charagh Sharma

pukaarta hoon main al-amaan al-amaan allah
bacha le mere yaqeenullaah ki jaan allah

vo jin ko tu ne ata kiya hai jahaan allah
bana rahe hain tire liye hi makaan allah

vo yaad aata hai sirf yaaron ke poochne par
tu yaad aata hai sirf waqt-e-azaan allah

tire taghaaful ki hi badaulat hoon aaj jo hoon
mujhe koi janm-zaat kaafir na jaan allah

main jab vo jannat bhi chhod aaya to duniya kya hai
le main chala tu sanbhaal apna jahaan allah

पुकारता हूँ मैं अल-अमान अल-अमान अल्लाह
बचा ले मेरे यक़ीनुल्लाह की जान अल्लाह

वो जिन को तू ने अता किया है जहान अल्लाह
बना रहे हैं तिरे लिए ही मकान अल्लाह

वो याद आता है सिर्फ़ यारों के पूछने पर
तू याद आता है सिर्फ़ वक़्त-ए-अज़ान अल्लाह

तिरे तग़ाफ़ुल की ही बदौलत हूँ आज जो हूँ
मुझे कोई जन्म-ज़ात काफ़िर न जान अल्लाह

मैं जब वो जन्नत भी छोड़ आया तो दुनिया क्या है
ले मैं चला तू सँभाल अपना जहान अल्लाह

- Charagh Sharma
6 Likes

Kashmir Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Charagh Sharma

As you were reading Shayari by Charagh Sharma

Similar Writers

our suggestion based on Charagh Sharma

Similar Moods

As you were reading Kashmir Shayari Shayari