agarche koi bhi andha nahin tha | अगरचे कोई भी अंधा नहीं था - Amjad Islam Amjad

agarche koi bhi andha nahin tha
likha deewaar ka padhta nahin tha

kuchh aisi barf thi us ki nazar mein
guzarne ke liye rasta nahin tha

tumhi ne kaun si achchaai ki hai
chalo maana ki main achha nahin tha

khuli aankhon se saari umr dekha
ik aisa khwaab jo apna nahin tha

main us ki anjuman mein tha akela
kisi ne bhi mujhe dekha nahin tha

sehar ke waqt kaise chhod jaata
tumhaari yaad thi sapna nahin tha

khadi thi raat khidki ke sirhaane
dariche mein vo chaand utara nahin tha

dilon mein girne waale ashk chunta
kahi ik jauhri aisa nahin tha

kuchh aisi dhoop thi un ke saroon par
khuda jaise ghareebon ka nahin tha

abhi harfon mein rang aate kahaan se
abhi main ne use likkha nahin tha

thi poori shakl us ki yaad mujh ko
magar main ne use dekha nahin tha

barhana khwaab the suraj ke neeche
kisi ummeed ka parda nahin tha

hai amjad aaj tak vo shakhs dil mein
ki jo us waqt bhi mera nahin tha

अगरचे कोई भी अंधा नहीं था
लिखा दीवार का पढ़ता नहीं था

कुछ ऐसी बर्फ़ थी उस की नज़र में
गुज़रने के लिए रस्ता नहीं था

तुम्ही ने कौन सी अच्छाई की है
चलो माना कि मैं अच्छा नहीं था

खुली आँखों से सारी उम्र देखा
इक ऐसा ख़्वाब जो अपना नहीं था

मैं उस की अंजुमन में था अकेला
किसी ने भी मुझे देखा नहीं था

सहर के वक़्त कैसे छोड़ जाता
तुम्हारी याद थी सपना नहीं था

खड़ी थी रात खिड़की के सिरहाने
दरीचे में वो चाँद उतरा नहीं था

दिलों में गिरने वाले अश्क चुनता
कहीं इक जौहरी ऐसा नहीं था

कुछ ऐसी धूप थी उन के सरों पर
ख़ुदा जैसे ग़रीबों का नहीं था

अभी हर्फ़ों में रंग आते कहाँ से
अभी मैं ने उसे लिक्खा नहीं था

थी पूरी शक्ल उस की याद मुझ को
मगर मैं ने उसे देखा नहीं था

बरहना ख़्वाब थे सूरज के नीचे
किसी उम्मीद का पर्दा नहीं था

है 'अमजद' आज तक वो शख़्स दिल में
कि जो उस वक़्त भी मेरा नहीं था

- Amjad Islam Amjad
0 Likes

I Miss you Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Amjad Islam Amjad

As you were reading Shayari by Amjad Islam Amjad

Similar Writers

our suggestion based on Amjad Islam Amjad

Similar Moods

As you were reading I Miss you Shayari Shayari