mere liye to ishq ka vaada hai shayari | मेरे लिए तो इश्क़ का वादा है शायरी - Ali Zaryoun

mere liye to ishq ka vaada hai shayari
aadha suroor tum ho to aadha hai shayari

rudraaksh haath me hai to seene mein om hai
krishna hai mera dil meri radha hai shayari

apna to mel jol hi bas aashikon se hai
darvesh ka bas ek labaada hai shayari

ho aashna koi to dikhaati hai apna rang
be ramziyon ke vaaste saada hai shayari

tum saamne ho aur meri dastaras mein ho
is waqt mere dil ka iraada hai shayari

bhagwaan ho khuda ho muhabbat ho ya badan
jis samt bhi chalo yahi jaada hai shayari

is liye bhi ishq hi likhta hoon main ali
mera kisi se aakhri vaada hai shayari

मेरे लिए तो इश्क़ का वादा है शायरी
आधा सुरूर तुम हो तो आधा है शायरी

रुद्राक्ष हाथ मे है तो सीने में ओम है
कृष्णा है मेरा दिल मेरी राधा है शायरी

अपना तो मेल जोल ही बस आशिकों से है
दरवेश का बस एक लबादा है शायरी

हो आश्ना कोई तो दिखाती है अपना रंग
बे रम्ज़ियों के वास्ते सादा है शायरी

तुम सामने हो और मेरी दस्तरस में हो
इस वक़्त मेरे दिल का इरादा है शायरी

भगवान हो ख़ुदा हो मुहब्बत हो या बदन
जिस सम्त भी चलो यही जादा है शायरी

इस लिए भी इश्क़ ही लिखता हूँ मैं अली
मेरा किसी से आख़री वादा है शायरी

- Ali Zaryoun
60 Likes

Dosti Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Ali Zaryoun

As you were reading Shayari by Ali Zaryoun

Similar Writers

our suggestion based on Ali Zaryoun

Similar Moods

As you were reading Dosti Shayari Shayari