tum se agar mile vo kehna udaas hoon main | तुम से अगर मिले वो कहना उदास हूँ मैं - Neeraj jha

tum se agar mile vo kehna udaas hoon main
jitna udaas hai vo utna udaas hoon main

usko bhi dekhkar ye dil khush nahin hua hai
is baat se samajh lo kitna udaas hoon main

vo jab mujhe mila tha itni khushi nahin thi
khone ke baad usko jitna udaas hoon main


meri khushi kii khaatir chhodi hai jisne duniya

ik khat use likho tum likhna udaas hoon main


jo chhodkar gaye hain ik baat vo bhi sun len
tanhaa nahin hoon ab bhi maana udaas hoon main

तुम से अगर मिले वो कहना उदास हूँ मैं
जितना उदास है वो उतना उदास हूँ मैं

उसको भी देखकर ये दिल ख़ुश नहीं हुआ है
इस बात से समझ लो कितना उदास हूँ मैं

वो जब मुझे मिला था इतनी ख़ुशी नहीं थी
खोने के बाद उसको जितना उदास हूँ मैं


मेरी ख़ुशी की ख़ातिर छोड़ी है जिसने दुनिया

इक ख़त उसे लिखो तुम लिखना उदास हूँ मैं


जो छोड़कर गए हैं इक बात वो भी सुन लें
तन्हा नहीं हूँ अब भी माना उदास हूँ मैं

- Neeraj jha
1 Like

Sad Shayari

Our suggestion based on your choice

More by Neeraj jha

As you were reading Shayari by Neeraj jha

Similar Writers

our suggestion based on Neeraj jha

Similar Moods

As you were reading Sad Shayari Shayari